Explore जुलाई 2016, July 2016 and more!

20-21 जुलाई 2016, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रदर्शनी एवं तकनीकी स्थानांतरण केंद्र स्थित ग्रीन हाउस के संतुलित वातावरण में रायपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने झरबेरा फूल की उपज में गुणवत्ता देखी। जनप्रतिनिधियों के लिए धान एवं फूलों की खेती तो नया विषय नहीं था, फिर भी ग्रीन हाउस में होने वाली खेती को समझना उनके लिए नया अनुभव रहा। पॉवर ट्रिलर, हैप्पी सीडर, बैल चलित मल्टीक्राप प्लांटर एवं मिनी राइस मिल का उन्होंने खुद इस्तेमाल करके देखा।

20-21 जुलाई 2016, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रदर्शनी एवं तकनीकी स्थानांतरण केंद्र स्थित ग्रीन हाउस के संतुलित वातावरण में रायपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने झरबेरा फूल की उपज में गुणवत्ता देखी। जनप्रतिनिधियों के लिए धान एवं फूलों की खेती तो नया विषय नहीं था, फिर भी ग्रीन हाउस में होने वाली खेती को समझना उनके लिए नया अनुभव रहा। पॉवर ट्रिलर, हैप्पी सीडर, बैल चलित मल्टीक्राप प्लांटर एवं मिनी राइस मिल का उन्होंने खुद इस्तेमाल करके देखा।

मंत्रालय भ्रमण बलरामपुर जिले के सभी उम्र के जनप्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था। मंत्रालय भवन के प्रशासनिक कार्यालयों में तो वे गए ही, अलग-अलग स्थानों पर अपनी एवं साथियों की तस्वीरें लीं। मंत्रालय परिसर में स्थित व्यायाम शाला में युवाओं ने ट्रेडमिल एवं अन्य उपकरणों का इस्तेमाल तो किया ही पर भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने कसरत के मामले में अपनी उम्र के जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ कई युवाओं को पछाड़ दिया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993406240757562

मंत्रालय भ्रमण बलरामपुर जिले के सभी उम्र के जनप्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था। मंत्रालय भवन के प्रशासनिक कार्यालयों में तो वे गए ही, अलग-अलग स्थानों पर अपनी एवं साथियों की तस्वीरें लीं। मंत्रालय परिसर में स्थित व्यायाम शाला में युवाओं ने ट्रेडमिल एवं अन्य उपकरणों का इस्तेमाल तो किया ही पर भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने कसरत के मामले में अपनी उम्र के जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ कई युवाओं को पछाड़ दिया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993406240757562

20-21 जुलाई 2016, नया रायपुर में हो रहे पौधारोपण कार्यक्रम किसी अन्य पौधा-वृक्ष रोपण से कई मायनों में अलग है। पहला तो यह कि नया रायपुर की धरती पर छत्तीसगढ़ के सभी जिलों की मिट्टी रोज मिल रही है। दूसरा यह कि अलग-अलग जिलों के विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाए जा रहे हैं। आने वाले कुछ बरसों में ये सब पौधे वृक्ष बन जाएंगे। नया रायपुर की यह जमीन हरी-भरी तो होगी ही, अलग-अलग वृक्ष एक ही स्थान पर एक अनोखी जैव विविधता लेकर आएंगें। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/995436953887824

20-21 जुलाई 2016, नया रायपुर में हो रहे पौधारोपण कार्यक्रम किसी अन्य पौधा-वृक्ष रोपण से कई मायनों में अलग है। पहला तो यह कि नया रायपुर की धरती पर छत्तीसगढ़ के सभी जिलों की मिट्टी रोज मिल रही है। दूसरा यह कि अलग-अलग जिलों के विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाए जा रहे हैं। आने वाले कुछ बरसों में ये सब पौधे वृक्ष बन जाएंगे। नया रायपुर की यह जमीन हरी-भरी तो होगी ही, अलग-अलग वृक्ष एक ही स्थान पर एक अनोखी जैव विविधता लेकर आएंगें। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/995436953887824

20-21 जुलाई 2016, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रदर्शनी एवं तकनीकी स्थानांतरण केंद्र स्थित ग्रीन हाउस के संतुलित वातावरण में रायपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने झरबेरा फूल की उपज में गुणवत्ता देखी। जनप्रतिनिधियों के लिए धान एवं फूलों की खेती तो नया विषय नहीं था, फिर भी ग्रीन हाउस में होने वाली खेती को समझना उनके लिए नया अनुभव रहा। पॉवर ट्रिलर, हैप्पी सीडर, बैल चलित मल्टीक्राप प्लांटर एवं मिनी राइस मिल का उन्होंने खुद इस्तेमाल करके देखा।

20-21 जुलाई 2016, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रदर्शनी एवं तकनीकी स्थानांतरण केंद्र स्थित ग्रीन हाउस के संतुलित वातावरण में रायपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने झरबेरा फूल की उपज में गुणवत्ता देखी। जनप्रतिनिधियों के लिए धान एवं फूलों की खेती तो नया विषय नहीं था, फिर भी ग्रीन हाउस में होने वाली खेती को समझना उनके लिए नया अनुभव रहा। पॉवर ट्रिलर, हैप्पी सीडर, बैल चलित मल्टीक्राप प्लांटर एवं मिनी राइस मिल का उन्होंने खुद इस्तेमाल करके देखा।

20-21 जुलाई 2016, बलरामपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने अपने साथ लाए पौधे नया रायपुर में लगाए। अलग-अलग उम्र के जनप्रतिनिधि जब एक साथ मिलकर पौधों को लगाते हैं, पता चलता है कि उनमें कितनी एकता है। भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने पौधे लगाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। अपने सिर पर एक भारी गमला रखकर वे पौधा लगाने के स्थान तक उसे सहजता से ले गए। वजन, धूप या दूरी की मार से भी श्री विश्वकर्मा के चेहरे पर किसी तरह की शिकन नहीं आई। वे पूरे वक्त मुस्कुराते ही रहे।

20-21 जुलाई 2016, बलरामपुर के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने अपने साथ लाए पौधे नया रायपुर में लगाए। अलग-अलग उम्र के जनप्रतिनिधि जब एक साथ मिलकर पौधों को लगाते हैं, पता चलता है कि उनमें कितनी एकता है। भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने पौधे लगाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। अपने सिर पर एक भारी गमला रखकर वे पौधा लगाने के स्थान तक उसे सहजता से ले गए। वजन, धूप या दूरी की मार से भी श्री विश्वकर्मा के चेहरे पर किसी तरह की शिकन नहीं आई। वे पूरे वक्त मुस्कुराते ही रहे।

20-21 जुलाई 2016, छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम अध्यक्ष एवं धरसींवा विधायक श्री देवजी भाई पटेल एवं महाप्रबंधक श्री अशोक चतुर्वेदी जनप्रतिनिधियों के बीच मौजूद थे। श्री पटेल ने होटल प्रबंधन संसथान में आयोजित सांस्कृतिक संध्या में छत्तीसगढ़ प्रदेश बनाने की कल्पना विस्तार में बताई। उन्होंने कहा की प्रदेश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं महान पूर्वजों ने जैसा छत्तीसगढ़ सोचा था, आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा बनाया गया है।  https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993409704090549

20-21 जुलाई 2016, छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम अध्यक्ष एवं धरसींवा विधायक श्री देवजी भाई पटेल एवं महाप्रबंधक श्री अशोक चतुर्वेदी जनप्रतिनिधियों के बीच मौजूद थे। श्री पटेल ने होटल प्रबंधन संसथान में आयोजित सांस्कृतिक संध्या में छत्तीसगढ़ प्रदेश बनाने की कल्पना विस्तार में बताई। उन्होंने कहा की प्रदेश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं महान पूर्वजों ने जैसा छत्तीसगढ़ सोचा था, आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा बनाया गया है। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993409704090549

मंत्रालय भ्रमण बलरामपुर जिले के सभी उम्र के जनप्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था। मंत्रालय भवन के प्रशासनिक कार्यालयों में तो वे गए ही, अलग-अलग स्थानों पर अपनी एवं साथियों की तस्वीरें लीं। मंत्रालय परिसर में स्थित व्यायाम शाला में युवाओं ने ट्रेडमिल एवं अन्य उपकरणों का इस्तेमाल तो किया ही पर भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने कसरत के मामले में अपनी उम्र के जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ कई युवाओं को पछाड़ दिया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993406240757562

मंत्रालय भ्रमण बलरामपुर जिले के सभी उम्र के जनप्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था। मंत्रालय भवन के प्रशासनिक कार्यालयों में तो वे गए ही, अलग-अलग स्थानों पर अपनी एवं साथियों की तस्वीरें लीं। मंत्रालय परिसर में स्थित व्यायाम शाला में युवाओं ने ट्रेडमिल एवं अन्य उपकरणों का इस्तेमाल तो किया ही पर भैसमुण्डा, बलरामपुर के पूर्व पंच श्री तुलसी विश्वकर्मा ने कसरत के मामले में अपनी उम्र के जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ कई युवाओं को पछाड़ दिया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993406240757562

20-21 जुलाई 2016, रायपुर, बलरामपुर, सूरजपुर एवं कोरिया जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ 5-डी फिल्म रोमांचकारी अनुभव रहा। इस फिल्म में छत्तीसगढ़ के पिछले कुछ वर्षों की विकास यात्रा दिखाई गई मुख्यमंत्री के करीब बैठे प्रतिनिधियों ने अपनी खुशी जताते हुए बताया कि हमर छत्तीसगढ़ योजना उन्हें जीवनभर याद रहेगी, खासतौर पर डॉ. रमन सिंह के साथ बैठकर 5-डी फिल्म देखना।  https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993374940760692

20-21 जुलाई 2016, रायपुर, बलरामपुर, सूरजपुर एवं कोरिया जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ 5-डी फिल्म रोमांचकारी अनुभव रहा। इस फिल्म में छत्तीसगढ़ के पिछले कुछ वर्षों की विकास यात्रा दिखाई गई मुख्यमंत्री के करीब बैठे प्रतिनिधियों ने अपनी खुशी जताते हुए बताया कि हमर छत्तीसगढ़ योजना उन्हें जीवनभर याद रहेगी, खासतौर पर डॉ. रमन सिंह के साथ बैठकर 5-डी फिल्म देखना। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/993374940760692

20-21 जुलाई 2016, नए रायपुर में लगाए जाने वाले अनेक पौधों को हर रोज छत्तीसगढ़ की माताओं का प्यार मिल रहा है। ऐसे ही प्यार के साथ अपने-अपने पौधे लगाती रायपुर जिले की माताएं।

20-21 जुलाई 2016, नए रायपुर में लगाए जाने वाले अनेक पौधों को हर रोज छत्तीसगढ़ की माताओं का प्यार मिल रहा है। ऐसे ही प्यार के साथ अपने-अपने पौधे लगाती रायपुर जिले की माताएं।

20-21 जुलाई 2016, बलरामपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने नया रायपुर स्थित शहीद वीरनारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण करके, कुछ देर बैठकर ग्राउण्ड पर चल रहे प्रेक्टीस सेशन का आंनद लिया।

20-21 जुलाई 2016, बलरामपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने नया रायपुर स्थित शहीद वीरनारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का भ्रमण करके, कुछ देर बैठकर ग्राउण्ड पर चल रहे प्रेक्टीस सेशन का आंनद लिया।

Pinterest
Search