Explore Events and more!

नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन अनोखी सांस्कृतिक विशेषताओं के लिए जाना जाता है। छत्तीसगढ़ के हर जिले की संस्कृति यहां पर कलाकृतियों के माध्यम से झलकती है। साथ ही आयोजित रंगारंग प्रस्तुतियां इस संस्कृति का एक पूरा परिचय देती हैं। बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन देखा।

नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन अनोखी सांस्कृतिक विशेषताओं के लिए जाना जाता है। छत्तीसगढ़ के हर जिले की संस्कृति यहां पर कलाकृतियों के माध्यम से झलकती है। साथ ही आयोजित रंगारंग प्रस्तुतियां इस संस्कृति का एक पूरा परिचय देती हैं। बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन देखा।

बलौदाबाजार के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में राज्य में मौजूद धान की विशिष्ट प्रजातियां देखीं। इनमें से अधिकांश विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किस्में हैं। विश्वविद्यालय द्वारा बनाए ज्ञानवर्धक ब्रोशर उनका ज्ञान बढ़ाने में सहयोगी थे। एक बार फिर झरबेरा के फूलों के खेत जनप्रतिनिधियों को लुभाने में कामयाब रहे।

बलौदाबाजार के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में राज्य में मौजूद धान की विशिष्ट प्रजातियां देखीं। इनमें से अधिकांश विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किस्में हैं। विश्वविद्यालय द्वारा बनाए ज्ञानवर्धक ब्रोशर उनका ज्ञान बढ़ाने में सहयोगी थे। एक बार फिर झरबेरा के फूलों के खेत जनप्रतिनिधियों को लुभाने में कामयाब रहे।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्था में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। रायगढ़ जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्था में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। रायगढ़ जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्थान में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। बलौदाबाजार जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्थान में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। बलौदाबाजार जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा भ्रमण करके सदन, सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी प्रेक्षागृह एवं परिसर के अन्य हिस्सों को देखा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1002511856513667

बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा भ्रमण करके सदन, सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी प्रेक्षागृह एवं परिसर के अन्य हिस्सों को देखा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1002511856513667

विज्ञान के अनोखे चमत्कार हमें हमेशा अपनी ओर खींच लाते हैं। बलौदाबाजार से पहली बार आए पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजक था। एक तरफ उन्होंने प्रकृति में पाए जाने वाले संसाधनों का विकास देखा। दूसरी ओर लगी परछाई, मजाकिया दर्पण, आदि के सामने खूब मजा लिया। परिसर के उद्यान में झूले झूलकर सभी उम्र की महिलाओं ने आनंद उठाया।

विज्ञान के अनोखे चमत्कार हमें हमेशा अपनी ओर खींच लाते हैं। बलौदाबाजार से पहली बार आए पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजक था। एक तरफ उन्होंने प्रकृति में पाए जाने वाले संसाधनों का विकास देखा। दूसरी ओर लगी परछाई, मजाकिया दर्पण, आदि के सामने खूब मजा लिया। परिसर के उद्यान में झूले झूलकर सभी उम्र की महिलाओं ने आनंद उठाया।

नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन अनोखी सांस्कृतिक विशेषताओं के लिए जाना जाता है। छत्तीसगढ़ के हर जिले की संस्कृति यहां पर कलाकृतियों के माध्यम से झलकती है। साथ ही आयोजित रंगारंग प्रस्तुतियां इस संस्कृति का एक पूरा परिचय देती हैं। गरियाबंद के जनप्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन देखा।

नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन अनोखी सांस्कृतिक विशेषताओं के लिए जाना जाता है। छत्तीसगढ़ के हर जिले की संस्कृति यहां पर कलाकृतियों के माध्यम से झलकती है। साथ ही आयोजित रंगारंग प्रस्तुतियां इस संस्कृति का एक पूरा परिचय देती हैं। गरियाबंद के जनप्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन देखा।

बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा भ्रमण करके सदन, सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी प्रेक्षागृह एवं परिसर के अन्य हिस्सों को देखा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1002511856513667

बलौदाबाजार के जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा भ्रमण करके सदन, सेंट्रल हॉल, पुस्तकालय, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी प्रेक्षागृह एवं परिसर के अन्य हिस्सों को देखा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1002511856513667

विज्ञान के अनोखे चमत्कार हमें हमेशा अपनी ओर खींच लाते हैं। बलौदाबाजार से पहली बार आए पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजक था। एक तरफ उन्होंने प्रकृति में पाए जाने वाले संसाधनों का विकास देखा। दूसरी ओर लगी परछाई, मजाकिया दर्पण, आदि के सामने खूब मजा लिया। परिसर के उद्यान में झूले झूलकर सभी उम्र की महिलाओं ने आनंद उठाया।

विज्ञान के अनोखे चमत्कार हमें हमेशा अपनी ओर खींच लाते हैं। बलौदाबाजार से पहली बार आए पंचायत जनप्रतिनिधियों के लिए छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजक था। एक तरफ उन्होंने प्रकृति में पाए जाने वाले संसाधनों का विकास देखा। दूसरी ओर लगी परछाई, मजाकिया दर्पण, आदि के सामने खूब मजा लिया। परिसर के उद्यान में झूले झूलकर सभी उम्र की महिलाओं ने आनंद उठाया।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्थान में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। बलौदाबाजार जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

नटखट हरकतें करते सभी जिलों के नन्हे बच्चे राज्य होटल प्रबंधन संस्थान में जान ला देते हैं। अपनी छोटी-छोटी पर मासूम शरारतों से पूरा भ्रमण बाकी सभी बड़े जनप्रतिनिधियों के लिए और भी मजेदार बना देते हैं। बलौदाबाजार जिले के ये बच्चे अपनी माताओं के साथ रजिस्ट्रेशन कराते हुए।

Pinterest
Search