Explore these ideas and more!

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

हमर छत्तीसगढ़" योजना के तहत बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन यात्रा पर पहुंचे. आकर्षक, सजे हुए गमलों में अपने गाँव का पौधा लेकर आए प्रतिनिधि बेहद हर्षित नजर आ रहे थे. उन्होंने नया रायपुर में अपने गाँव से लाए आम, नीम आदि फलदार पौधे रोपित किए. गाँव की मिट्टी, गाँव का पौधा यहाँ लगाकर प्रतिनिधि भावनात्मक जुड़ाव महसूस कर रहे थे.

हमर छत्तीसगढ़" योजना के तहत बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन यात्रा पर पहुंचे. आकर्षक, सजे हुए गमलों में अपने गाँव का पौधा लेकर आए प्रतिनिधि बेहद हर्षित नजर आ रहे थे. उन्होंने नया रायपुर में अपने गाँव से लाए आम, नीम आदि फलदार पौधे रोपित किए. गाँव की मिट्टी, गाँव का पौधा यहाँ लगाकर प्रतिनिधि भावनात्मक जुड़ाव महसूस कर रहे थे.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

नया रायपुर स्थित महानदी एवं इंद्रावती भवन पहुंचे बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रशासनिक ब्लाक एवं सचिव ब्लाक देखा. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें यहाँ के कामकाज के बारे में विस्तार से जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने ग्रंथालय का अवलोकन किया. जिम में वेट लिफ्टर उठाकर प्रतिनिधियों ने अपना दम-ख़म दिखाया.

नया रायपुर स्थित महानदी एवं इंद्रावती भवन पहुंचे बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रशासनिक ब्लाक एवं सचिव ब्लाक देखा. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें यहाँ के कामकाज के बारे में विस्तार से जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने ग्रंथालय का अवलोकन किया. जिम में वेट लिफ्टर उठाकर प्रतिनिधियों ने अपना दम-ख़म दिखाया.

बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर में 5 डी इमर्सिव डोम थियेटर में करीब 20 मिनट की लघु फिल्म देखी. प्रदेश में संचालित सरकारी योजनाओं के बारे में फिल्म में जानकारी दी गई थी. जनप्रतिनिधियों से गाँव में बेहतर विकास कार्य करने की अपील की गई है. जिससे प्रदेश के विकास में गाँव का योगदान भी शामिल हो सके. पहली बार 5 डी देखने की उत्सुकता और फिल्म देखने के बाद बाहर निकलते प्रतिनिधियों के चेहरे पर मुस्कुराहट नजर आ रही थी.

बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर में 5 डी इमर्सिव डोम थियेटर में करीब 20 मिनट की लघु फिल्म देखी. प्रदेश में संचालित सरकारी योजनाओं के बारे में फिल्म में जानकारी दी गई थी. जनप्रतिनिधियों से गाँव में बेहतर विकास कार्य करने की अपील की गई है. जिससे प्रदेश के विकास में गाँव का योगदान भी शामिल हो सके. पहली बार 5 डी देखने की उत्सुकता और फिल्म देखने के बाद बाहर निकलते प्रतिनिधियों के चेहरे पर मुस्कुराहट नजर आ रही थी.

बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में विज्ञान के चमत्कारों पर आधारित प्रदर्शनी देखी. यहाँ जादुई आइना, उड़ती गेंद, समुद्र में भंवर कैसे आते हैं, असम्भव मिश्रण आदि प्रयोगों के बारे में भी प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई. छत्तीसगढ़ की धरोहर, फसल उत्पादन, बस्तर के परम्परागत गहनों, वाद्य यंत्रों वेशभूषा आदि के बारे में बताया गया.

बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में विज्ञान के चमत्कारों पर आधारित प्रदर्शनी देखी. यहाँ जादुई आइना, उड़ती गेंद, समुद्र में भंवर कैसे आते हैं, असम्भव मिश्रण आदि प्रयोगों के बारे में भी प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई. छत्तीसगढ़ की धरोहर, फसल उत्पादन, बस्तर के परम्परागत गहनों, वाद्य यंत्रों वेशभूषा आदि के बारे में बताया गया.

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

सांस्कृतिक संध्या में बेमेतरा विधायक श्री अवधेश सिंह चंदेल भी पहुंचे, जहाँ पंचायत प्रतिनिधियों ने उनका पुष्पगुच्छ से स्वागत कियाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

सांस्कृतिक संध्या में बेमेतरा विधायक श्री अवधेश सिंह चंदेल भी पहुंचे, जहाँ पंचायत प्रतिनिधियों ने उनका पुष्पगुच्छ से स्वागत कियाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छतौना के लोकमंच माटी मोर मितान के सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का लुत्फ़ उठायाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छतौना के लोकमंच माटी मोर मितान के सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का लुत्फ़ उठायाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में विज्ञान के चमत्कारों पर आधारित प्रदर्शनी देखी. प्रदर्शनी में यंत्र से ध्वनि की उत्पत्ति के बारे में उपस्थित अधिकारी ने जानकारी दी. जादुई आइना, उड़ती गेंद, समुद्र में भंवर कैसे आते हैं, बुनकर की प्रतिमा आदि प्रयोगों के बारे में भी प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई. छत्तीसगढ़ की धरोहर, फसल उत्पादन, परम्परागत गहनों, वेशभूषा आदि के बारे में बताया गया.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में विज्ञान के चमत्कारों पर आधारित प्रदर्शनी देखी. प्रदर्शनी में यंत्र से ध्वनि की उत्पत्ति के बारे में उपस्थित अधिकारी ने जानकारी दी. जादुई आइना, उड़ती गेंद, समुद्र में भंवर कैसे आते हैं, बुनकर की प्रतिमा आदि प्रयोगों के बारे में भी प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई. छत्तीसगढ़ की धरोहर, फसल उत्पादन, परम्परागत गहनों, वेशभूषा आदि के बारे में बताया गया.

दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छतौना के लोकमंच माटी मोर मितान के सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का लुत्फ़ उठायाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छतौना के लोकमंच माटी मोर मितान के सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का लुत्फ़ उठायाhttps://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1019792308118955

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने मंत्रालय भवन पहुंचकर प्रशासनिक ब्लाक, सचिव ब्लाक का अवलोकन किया. मंत्रालय के रजिस्ट्रार श्री भगवान सिंह कुशवाहा ने उन्हें मंत्रालय में होने वाले कामकाज की जानकारी दी. प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कक्ष भी देखा. परिसर में बने हरे-भरे गार्डन में बैठकर पंचायत प्रतिनिधियों ने तस्वीरें खिंचाई.

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

"हमर छत्तीसगढ़" लोकमंच पर छतौना की सांस्कृतिक संस्था माटी मोर मितान के कलाकार महेंद्र साहू एवं साथियों ने छत्तीसगढ़ी गीतों की प्रस्तुति दी. कार्यक्रम की शुरुआत में गणेश वंदना करते हुए ‘जय हो जय हो गणपति महराज’ गीत पेश किया. उसके बाद माता जसगीत, गोरी आबे मोरे अंगना, मोर छत्तीसगढ़ महतारी आदि सुमधुर गीत प्रस्तुत किए. बालोद, दुर्ग एवं बेमेतरा के पंचायत प्रतिनिधियों ने लोक गीतों का लुत्फ़ उठाया.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के डॉ. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को अधिकारियों ने जानकारी दी. विधानसभा के कामकाज, सत्र, गठित समितियों आदि के बारे में बताया गया. सदन के भीतर भ्रमण के दौरान प्रतिनिधियों को सत्तापक्ष एवं विपक्ष के बैठक व्यस्था की जानकारी भी दी गई. लायब्रेरी कक्ष के भ्रमण के दौरान एक प्रतिनिधि भारत के संविधान दस्तावेज देखते हुए.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के डॉ. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में बालोद जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को अधिकारियों ने जानकारी दी. विधानसभा के कामकाज, सत्र, गठित समितियों आदि के बारे में बताया गया. सदन के भीतर भ्रमण के दौरान प्रतिनिधियों को सत्तापक्ष एवं विपक्ष के बैठक व्यस्था की जानकारी भी दी गई. लायब्रेरी कक्ष के भ्रमण के दौरान एक प्रतिनिधि भारत के संविधान दस्तावेज देखते हुए.

Pinterest
Search