Pinterest • The world’s catalogue of ideas

Explore ने 5, करीब 20 and more!

नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने 5 डी इमर्सिव डोम थियेटर में प्रदेश के विकास कार्यों पर आधारित लघु फिल्म का आनन्द लिया. करीब 20 मिनट की फिल्म में डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश में संचालित जनहितकारी योजनाओं और नया रायपुर, राजधानी के विकास पर केन्द्रित उद्बोधन दिया है. प्रतिनिधियों से अपने गाँव का बेहतर विकास करने के लिए भी कहा गया है. डोम में 5 डी फिल्म देखना बस्तर के धुर जंगली इलाके के प्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था.

नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने 5 डी इमर्सिव डोम थियेटर में प्रदेश के विकास कार्यों पर आधारित लघु फिल्म का आनन्द लिया. करीब 20 मिनट की फिल्म में डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश में संचालित जनहितकारी योजनाओं और नया रायपुर, राजधानी के विकास पर केन्द्रित उद्बोधन दिया है. प्रतिनिधियों से अपने गाँव का बेहतर विकास करने के लिए भी कहा गया है. डोम में 5 डी फिल्म देखना बस्तर के धुर जंगली इलाके के प्रतिनिधियों के लिए नया अनुभव था.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे. जहाँ उन्होंने भव्य मैदान का अवलोकन किया. यहाँ विशाल स्टेडियम में खूबसूरत कुर्सियों पर बैठकर हरे-हरे मैदान का नजारा किया. प्रतिनिधियों ने मोबाईल से अपने साथियों की तस्वीरें भी खींची.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे. जहाँ उन्होंने भव्य मैदान का अवलोकन किया. यहाँ विशाल स्टेडियम में खूबसूरत कुर्सियों पर बैठकर हरे-हरे मैदान का नजारा किया. प्रतिनिधियों ने मोबाईल से अपने साथियों की तस्वीरें भी खींची.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर के बाटनिकल गार्डन पहुँचकर अपने गाँव से लाया जल प्रवाहित किया. विशाल तालाब में प्रदेश की सभी पंचायतों एवं नगरीय निकायों का जल संग्रहित किया जा रहा है. हमर छत्तीसगढ़ योजना में भ्रमण यात्रा पर आने वाले प्रतिनिधि अपने साथ गाँव, शहर का जल लेकर आते हैं.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर के बाटनिकल गार्डन पहुँचकर अपने गाँव से लाया जल प्रवाहित किया. विशाल तालाब में प्रदेश की सभी पंचायतों एवं नगरीय निकायों का जल संग्रहित किया जा रहा है. हमर छत्तीसगढ़ योजना में भ्रमण यात्रा पर आने वाले प्रतिनिधि अपने साथ गाँव, शहर का जल लेकर आते हैं.

कोंडागांव जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा अभूतपूर्व विकास।

कोंडागांव जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा अभूतपूर्व विकास।

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा अभूतपूर्व विकास।

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने देखा अभूतपूर्व विकास।

, छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के चमत्कारों की प्रदर्शनी माडल के जरिये देखी. यहाँ विविध अविष्कार यथा जादुई दर्पण, अनंत कुंआ, समुद्र में भंवर पड़ने की प्रकिया आदि की विस्तृत जानकारी साइंस सेंटर के अधिकारियों ने दी. वन्य प्राणियों एवं पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द का अनुभव किया. बस्तर की आदिवासी महिला प्रतिनिधि पारम्परिक आभूषण देखकर बेहद खुश नजर आई.

, छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के चमत्कारों की प्रदर्शनी माडल के जरिये देखी. यहाँ विविध अविष्कार यथा जादुई दर्पण, अनंत कुंआ, समुद्र में भंवर पड़ने की प्रकिया आदि की विस्तृत जानकारी साइंस सेंटर के अधिकारियों ने दी. वन्य प्राणियों एवं पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द का अनुभव किया. बस्तर की आदिवासी महिला प्रतिनिधि पारम्परिक आभूषण देखकर बेहद खुश नजर आई.

कोंडागांव जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन में प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. जहाँ लोक कलाकारों ने मनोरंजक कार्यक्रम पेश कर उन्हें लुभाया. साथ ही गीतों के माध्यम से जागरूकता संदेश भी दिया. यहाँ बस्तर की संस्कृति का अवलोकन प्रतिनिधियों ने किया.

कोंडागांव जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन में प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. जहाँ लोक कलाकारों ने मनोरंजक कार्यक्रम पेश कर उन्हें लुभाया. साथ ही गीतों के माध्यम से जागरूकता संदेश भी दिया. यहाँ बस्तर की संस्कृति का अवलोकन प्रतिनिधियों ने किया.

कांकेर, नारायणपुर, बस्तर एवं कोंडागांव के पंचायत प्रतिनिधियों ने सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम में शिरकत की. हमर छत्तीसगढ़ लोकमंच पर कलाकारों ने एक से एक छत्तीसगढ़ी गीत पेश किए. जय हो छत्तीसगढ़ मैया गीत से शुरुआत करते हुए कलाकारों ने गणेश वन्दना, माता जसगीत, तरिहरी ना ना री सुवना, ठाकुर देवता के मड़वा, रावत नाचा आदि कार्यक्रम प्रस्तुत किए. देर शाम तक चले कार्यक्रम का प्रतिनिधियों ने आनन्द लिया.

कांकेर, नारायणपुर, बस्तर एवं कोंडागांव के पंचायत प्रतिनिधियों ने सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम में शिरकत की. हमर छत्तीसगढ़ लोकमंच पर कलाकारों ने एक से एक छत्तीसगढ़ी गीत पेश किए. जय हो छत्तीसगढ़ मैया गीत से शुरुआत करते हुए कलाकारों ने गणेश वन्दना, माता जसगीत, तरिहरी ना ना री सुवना, ठाकुर देवता के मड़वा, रावत नाचा आदि कार्यक्रम प्रस्तुत किए. देर शाम तक चले कार्यक्रम का प्रतिनिधियों ने आनन्द लिया.

छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान प्रदर्शनी देखी. जहाँ उन्होंने पशु-पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द लिया. बस्तर की पारम्परिक वेशभूषा, आभूषण देखकर महिलाएं विस्मित हो गई. प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति, जंगल भ्रमण आदि का लुत्फ़ उठाया.

छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान प्रदर्शनी देखी. जहाँ उन्होंने पशु-पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द लिया. बस्तर की पारम्परिक वेशभूषा, आभूषण देखकर महिलाएं विस्मित हो गई. प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति, जंगल भ्रमण आदि का लुत्फ़ उठाया.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे. जहाँ उन्होंने भव्य मैदान का अवलोकन किया. यहाँ विशाल स्टेडियम में खूबसूरत कुर्सियों पर बैठकर हरे-हरे मैदान का नजारा किया. प्रतिनिधियों ने मोबाईल से अपने साथियों की तस्वीरें भी खींची.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पहुंचे. जहाँ उन्होंने भव्य मैदान का अवलोकन किया. यहाँ विशाल स्टेडियम में खूबसूरत कुर्सियों पर बैठकर हरे-हरे मैदान का नजारा किया. प्रतिनिधियों ने मोबाईल से अपने साथियों की तस्वीरें भी खींची.

, छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के चमत्कारों की प्रदर्शनी माडल के जरिये देखी. यहाँ विविध अविष्कार यथा जादुई दर्पण, अनंत कुंआ, समुद्र में भंवर पड़ने की प्रकिया आदि की विस्तृत जानकारी साइंस सेंटर के अधिकारियों ने दी. वन्य प्राणियों एवं पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द का अनुभव किया. बस्तर की आदिवासी महिला प्रतिनिधि पारम्परिक आभूषण देखकर बेहद खुश नजर आई.

, छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के चमत्कारों की प्रदर्शनी माडल के जरिये देखी. यहाँ विविध अविष्कार यथा जादुई दर्पण, अनंत कुंआ, समुद्र में भंवर पड़ने की प्रकिया आदि की विस्तृत जानकारी साइंस सेंटर के अधिकारियों ने दी. वन्य प्राणियों एवं पक्षियों की आवाजें सुनकर आनन्द का अनुभव किया. बस्तर की आदिवासी महिला प्रतिनिधि पारम्परिक आभूषण देखकर बेहद खुश नजर आई.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित मंत्रालय पहुंचे. जहाँ उन्होंने प्रशासनिक कामकाज देखा. सचिव ब्लाक का अवलोकन किया एवं आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित जिम में व्यायाम किया.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर स्थित मंत्रालय पहुंचे. जहाँ उन्होंने प्रशासनिक कामकाज देखा. सचिव ब्लाक का अवलोकन किया एवं आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित जिम में व्यायाम किया.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे, जहाँ डॉ. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में विधानसभा के अवर सचिव श्री जी. एस. मूर्ति ने विधानसभा के कामकाज, संसदीय प्रणाली, बजट सत्र, समितियों के कामकाज की जानकारी दी. सदन के भीतर भ्रमण के दौरान प्रतिनिधियों को विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री समेत सत्तापक्ष एवं विपक्ष की बैठक व्यवस्था की जानकारी दी गई. लायब्रेरी में महिला प्रतिनिधियों ने भारत का संविधान दस्तावेज का अवलोकन किया.

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे, जहाँ डॉ. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में विधानसभा के अवर सचिव श्री जी. एस. मूर्ति ने विधानसभा के कामकाज, संसदीय प्रणाली, बजट सत्र, समितियों के कामकाज की जानकारी दी. सदन के भीतर भ्रमण के दौरान प्रतिनिधियों को विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री समेत सत्तापक्ष एवं विपक्ष की बैठक व्यवस्था की जानकारी दी गई. लायब्रेरी में महिला प्रतिनिधियों ने भारत का संविधान दस्तावेज का अवलोकन किया.

बस्तर संभाग के कोंडागांव, नारायणपुर एवं कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने सांस्कृतिक संध्या का आनन्द लिया. हमर छत्तीसगढ़ के लोकमंच पर रायपुर के कलाकार श्री राजू त्रिपाठी की लोक संस्था ने मनोरंजक, भक्तिपूर्ण गीत प्रस्तुत किए. कार्यक्रम की शुरुआत माता जसगीत ‘ढोल बाजे रे नगाड़ा बाजे ना’ गीत से हुई, जहाँ कलाकारों ने आकर्षक नृत्य के साथ भक्तिगीत पेश किया. के गोटी मारंव चिरैया ल, मयारू जोड़ी आदि गीत समेत ददरिया की मनमोहक प्रस्तुति दी.

बस्तर संभाग के कोंडागांव, नारायणपुर एवं कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने सांस्कृतिक संध्या का आनन्द लिया. हमर छत्तीसगढ़ के लोकमंच पर रायपुर के कलाकार श्री राजू त्रिपाठी की लोक संस्था ने मनोरंजक, भक्तिपूर्ण गीत प्रस्तुत किए. कार्यक्रम की शुरुआत माता जसगीत ‘ढोल बाजे रे नगाड़ा बाजे ना’ गीत से हुई, जहाँ कलाकारों ने आकर्षक नृत्य के साथ भक्तिगीत पेश किया. के गोटी मारंव चिरैया ल, मयारू जोड़ी आदि गीत समेत ददरिया की मनमोहक प्रस्तुति दी.

, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने धान की प्रदर्शनी देखी. यहाँ अनेकों प्रकार की धान की किस्में देखकर प्रतिनिधि बेहद उत्सुक नजर आए. यहाँ दलहन एवं तिलहन की पैदावार से सम्बंधित विविध जानकारी उन्हें दी गई.

, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने धान की प्रदर्शनी देखी. यहाँ अनेकों प्रकार की धान की किस्में देखकर प्रतिनिधि बेहद उत्सुक नजर आए. यहाँ दलहन एवं तिलहन की पैदावार से सम्बंधित विविध जानकारी उन्हें दी गई.

, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने धान की प्रदर्शनी देखी. यहाँ अनेकों प्रकार की धान की किस्में देखकर प्रतिनिधि बेहद उत्सुक नजर आए. यहाँ दलहन एवं तिलहन की पैदावार से सम्बंधित विविध जानकारी उन्हें दी गई.

, इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने धान की प्रदर्शनी देखी. यहाँ अनेकों प्रकार की धान की किस्में देखकर प्रतिनिधि बेहद उत्सुक नजर आए. यहाँ दलहन एवं तिलहन की पैदावार से सम्बंधित विविध जानकारी उन्हें दी गई.