Explore 23th August, August 2016 and more!

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. पुरखों की धरोहर, प्रदेश की लोक संस्कृति, आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखना अद्भुत अनुभव था. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. पुरखों की धरोहर, प्रदेश की लोक संस्कृति, आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखना अद्भुत अनुभव था. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया

सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर में जंगल सफारी की सैर करने पहुंचे. जहाँ उन्होंने बस्तर के मोगली चेंदरू की आकर्षक प्रतिमा का अवलोकन किया. उन्होंने भ्रमण के दौरान वन्य प्राणियों को देखकर आनन्द लिया.

सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधि नया रायपुर में जंगल सफारी की सैर करने पहुंचे. जहाँ उन्होंने बस्तर के मोगली चेंदरू की आकर्षक प्रतिमा का अवलोकन किया. उन्होंने भ्रमण के दौरान वन्य प्राणियों को देखकर आनन्द लिया.

छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को प्रेक्षा गृह में विधानसभा के अवर सचिव श्री जी. एस. मूर्ति एवं विधानसभा सचिवालय के संचालक डॉ. सत्येन्द्र तिवारी ने सारगर्भित जानकारी दी. विधानसभा के कामकाज, समितियों की कार्यप्रणाली, संसदीय कार्यवाही आदि के बारे में बताया गया. सदन के भीतर आसंदी और पक्ष विपक्ष की बैठक व्यवस्था, दर्शक दीर्घा, पत्रकार दीर्घा के बारे में जानकारी दी गई.

छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को प्रेक्षा गृह में विधानसभा के अवर सचिव श्री जी. एस. मूर्ति एवं विधानसभा सचिवालय के संचालक डॉ. सत्येन्द्र तिवारी ने सारगर्भित जानकारी दी. विधानसभा के कामकाज, समितियों की कार्यप्रणाली, संसदीय कार्यवाही आदि के बारे में बताया गया. सदन के भीतर आसंदी और पक्ष विपक्ष की बैठक व्यवस्था, दर्शक दीर्घा, पत्रकार दीर्घा के बारे में जानकारी दी गई.

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. पुरखों की धरोहर, प्रदेश की लोक संस्कृति, आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखना अद्भुत अनुभव था. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. पुरखों की धरोहर, प्रदेश की लोक संस्कृति, आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखना अद्भुत अनुभव था. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. जहाँ बस्तर की धरोहर, अपने क्षेत्र की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखकर वे बेहद रोमांचित हुए. मुक्तांगन के आकर्षक माहौल में बनाए गए लोकमंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का प्रतिनिधियों ने लुत्फ़ उठाया. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया.

पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. जहाँ बस्तर की धरोहर, अपने क्षेत्र की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला को देखकर वे बेहद रोमांचित हुए. मुक्तांगन के आकर्षक माहौल में बनाए गए लोकमंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का प्रतिनिधियों ने लुत्फ़ उठाया. यहाँ कलाकारों ने छत्तीसगढ़ी गीत एवं नृत्य पेश किया.

पुरखों की विरासत, प्रदेश की लोक संस्कृति और आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला. पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे बीजापुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन में प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. यहाँ कलाकारों ने गीतों एवं नृत्य पेश किया और जागरूकता संदेश दिया.

पुरखों की विरासत, प्रदेश की लोक संस्कृति और आमचो गाँव में बस्तर की जनजातीय आदिवासी जीवनशैली की जीवंत मूर्ति कला. पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे बीजापुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने पुरखौती मुक्तांगन में प्रदेश की लोक संस्कृति का अवलोकन किया. यहाँ कलाकारों ने गीतों एवं नृत्य पेश किया और जागरूकता संदेश दिया.

दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे, जहाँ उन्हें संरक्षित कृषि प्रक्षेत्र का भ्रमण कराया गया. ग्रीन हाउस में विधिपूर्वक उच्च मूल्य की फसलों के उत्पादन और संरक्षण के बारे में बताया गया. 23 हजार 250 किस्म की धान की प्रदर्शनी देखकर वे अचम्भित रह गए. प्रतिनिधियों ने दलहन-तिलहन के प्रकार एवं उत्पादन सम्बन्धी जानकारी ली. See

दंतेवाड़ा जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे, जहाँ उन्हें संरक्षित कृषि प्रक्षेत्र का भ्रमण कराया गया. ग्रीन हाउस में विधिपूर्वक उच्च मूल्य की फसलों के उत्पादन और संरक्षण के बारे में बताया गया. 23 हजार 250 किस्म की धान की प्रदर्शनी देखकर वे अचम्भित रह गए. प्रतिनिधियों ने दलहन-तिलहन के प्रकार एवं उत्पादन सम्बन्धी जानकारी ली. See

बीजापुर, सुकमा एवं दंतेवाड़ा जिलों से आए पंचायत जनप्रतिनिधियों का ग्रुप फोटो ।

बीजापुर, सुकमा एवं दंतेवाड़ा जिलों से आए पंचायत जनप्रतिनिधियों का ग्रुप फोटो ।

सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन यात्रा के दौरान स्वामी विवेकानन्द हवाई अड्डे पहुंचे, जहाँ उन्होंने आकाश में उड़ान भरते हवाई जहाज देखे. आसमान की ऊंचाई पर उड़ते जहाज को देखकर रोमांचित प्रतिनिधियों के चेहरे खिले हुए नजर आए.

सुकमा जिले के पंचायत प्रतिनिधि अध्ययन यात्रा के दौरान स्वामी विवेकानन्द हवाई अड्डे पहुंचे, जहाँ उन्होंने आकाश में उड़ान भरते हवाई जहाज देखे. आसमान की ऊंचाई पर उड़ते जहाज को देखकर रोमांचित प्रतिनिधियों के चेहरे खिले हुए नजर आए.

सुकमा जिले से "हमर छत्तीसगढ़" अध्ययन यात्रा पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का अवलोकन किया. जहाँ विशाल क्षेत्रफल में बने मैदान, हरी-हरी घास के बीच बनाई गई क्रिकेट पिच और दर्शक दीर्घा में बैठना सुखद अनुभव रहा. इतना बड़ा स्टेडियम प्रत्यक्ष तौर पर उन्होंने कभी देखा न था.

सुकमा जिले से "हमर छत्तीसगढ़" अध्ययन यात्रा पर आए पंचायत प्रतिनिधियों ने शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का अवलोकन किया. जहाँ विशाल क्षेत्रफल में बने मैदान, हरी-हरी घास के बीच बनाई गई क्रिकेट पिच और दर्शक दीर्घा में बैठना सुखद अनुभव रहा. इतना बड़ा स्टेडियम प्रत्यक्ष तौर पर उन्होंने कभी देखा न था.

Pinterest
Search