अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल,

5 Pins129 Followers
अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

अदाएँ हिमाक़ती उस पर नज़रों का तग़ाफ़ुल, गोया दिल से प्यारे नगद के शौक़ीन लगते हो । रूबरू ए इश्क़ क़सीदे कसते हैं लोग , पीठ पीछे से यहां बस फ़ब्तियाँ निकलती

Pinterest
Search