Pinterest • The world’s catalogue of ideas

ख़्याल ए ग़ालिब ,

4 Pins24 Followers

ख़्याल ए ग़ालिब ही बचा लेता है शायर ओ सुखन को , गम ए उल्फत में ख़ुदकुशी के वास्ते हमने भी कई बार उठाये थे कदम । तहरीरें बदल गयीं मोहब्बतों की

ख़्याल ए ग़ालिब ही बचा लेता है शायर ओ सुखन को , गम ए उल्फत में ख़ुदकुशी के वास्ते हमने भी कई बार उठाये थे कदम । तहरीरें बदल गयीं मोहब्बतों की

ख़्याल ए ग़ालिब ही बचा लेता है शायर ओ सुखन को , गम ए उल्फत में ख़ुदकुशी के वास्ते हमने भी कई बार उठाये थे कदम । तहरीरें बदल गयीं मोहब्बतों की

ख़्याल ए ग़ालिब ही बचा लेता है शायर ओ सुखन को , गम ए उल्फत में ख़ुदकुशी के वास्ते हमने भी कई बार उठाये थे कदम । तहरीरें बदल गयीं मोहब्बतों की