ग़म ए रूख़्सती मिली ,

7 Pins180 Followers
ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

منـــــو با بقیہ مقایسه نڪـــــن گفتــــــــــݥ در جریانــݩ باشـــــۍ シ by Eiffel_Tower

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

منـــــو با بقیہ مقایسه نڪـــــن گفتــــــــــݥ در جریانــݩ باشـــــۍ シ by Eiffel_Tower

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

منـــــو با بقیہ مقایسه نڪـــــن گفتــــــــــݥ در جریانــݩ باشـــــۍ シ by Eiffel_Tower

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

ग़म ए रूख़्सती मिली तुझसे रुख़्सत होके . इस कदर मेरे ज़मीर पर बोझ बन पड़ी थी मोहब्बत तेरी । कभी फुर्सत मिले तो मेरे कूचे का भी रुख़

منـــــو با بقیہ مقایسه نڪـــــن گفتــــــــــݥ در جریانــݩ باشـــــۍ シ by Eiffel_Tower

Pinterest
Search