जिस्म के फ़फ़ोलों को,

5 Pins27 Followers
जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

जिस्म के फ़फ़ोलों को जिगर में छुपा रहा है , चाक दामन में अस्मत बचा रहा है । लाख ग़म के अँधेरे हों शहर भर के गली कूचों में , दिलों में जज़्बा

Pinterest • The world’s catalogue of ideas
Search