तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

5 Pins242 Followers
तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है,

तल्खियों में हाल ए दिल बयान होता है, , मुझसे नाराज़ रहता है जो मेरा मक़ाम होता है । विसाल ए यार की आहट से ज़माना न जाग जाए कहीं , तुम

Pinterest
Search