दिलजलों की नज़र,

3 Pins24 Followers

दिलजलों की नज़र गर इतनी बुरी होती , आस्मां पर जलता चाँद कब का जल के ख़ाक हो जाता । पर्दा उठा तू रुख़ से ज़रा जलवा दिखा तो यार , माना की

दिलजलों की नज़र गर इतनी बुरी होती , आस्मां पर जलता चाँद कब का जल के ख़ाक हो जाता । पर्दा उठा तू रुख़ से ज़रा जलवा दिखा तो यार , माना की

दिलजलों की नज़र गर इतनी बुरी होती , आस्मां पर जलता चाँद कब का जल के ख़ाक हो जाता । पर्दा उठा तू रुख़ से ज़रा जलवा दिखा तो यार , माना की

Pinterest • The world’s catalogue of ideas