Pinterest • The world’s catalogue of ideas

नफरतों में चले खंज़र गयी बात कहो ,

3 Pins24 Followers

नफरतों में चले खंज़र गयी बात कहो , आशिक़ों के शहर में इश्क़ का तह ए दिल से एहतेराम हुआ है । ज़रूरी नहीं की हर बार दर ओ दीवार पर तहरीर ए मोहब्बत ही लिखी लिखी

नफरतों में चले खंज़र गयी बात कहो , आशिक़ों के शहर में इश्क़ का तह ए दिल से एहतेराम हुआ है । ज़रूरी नहीं की हर बार दर ओ दीवार पर तहरीर ए मोहब्बत ही लिखी लिखी

नफरतों में चले खंज़र गयी बात कहो , आशिक़ों के शहर में इश्क़ का तह ए दिल से एहतेराम हुआ है । ज़रूरी नहीं की हर बार दर ओ दीवार पर तहरीर ए मोहब्बत ही लिखी लिखी