बड़े खूँखार तेवर में ,

9 Pins56 Followers
बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

बड़े खूँखार तेवर में लबों के लफ्ज़ जेवर हैं , सर आँखों में बिठा रखे हैं जाने ख़्वाब कैसे कैसे । मसरूफ़ियत ए इश्क़ के भी अपने राज़ गहरे हैं ,

Pinterest
Search