वर्क़ खोले हैं तो हाल ए दिल ही मुक़म्मल कर दें,

3 Pins24 Followers

वर्क़ खोले हैं तो हाल ए दिल ही मुक़म्मल कर दें , कुछ सफ़हे किताबों के बेज़ा ज़ाया हैं ।मुक़म्मल नहीं है तू भी मुक़म्मल नहीं हूँ मैं भी , बिन

वर्क़ खोले हैं तो हाल ए दिल ही मुक़म्मल कर दें , कुछ सफ़हे किताबों के बेज़ा ज़ाया हैं ।मुक़म्मल नहीं है तू भी मुक़म्मल नहीं हूँ मैं भी , बिन

वर्क़ खोले हैं तो हाल ए दिल ही मुक़म्मल कर दें , कुछ सफ़हे किताबों के बेज़ा ज़ाया हैं ।मुक़म्मल नहीं है तू भी मुक़म्मल नहीं हूँ मैं भी , बिन

Pinterest • The world’s catalogue of ideas
Search