पात झरन्ता देखि के हँसती कूपलियाँ | हम चाले तुम चालियो धीरी बापलियाँ || ~कबीर (Kabir)

पात झरन्ता देखि के हँसती कूपलियाँ | हम चाले तुम चालियो धीरी बापलियाँ || ~कबीर (Kabir)

काल चिचाना है खड़ा जाग पियारे मीत नाम सनेही बाहिरा क्यों सोवै निह चींत ~ Kabir कबीर

काल चिचाना है खड़ा जाग पियारे मीत नाम सनेही बाहिरा क्यों सोवै निह चींत ~ Kabir कबीर

काल चिचाना है खड़ा जाग पियारे मीत नाम सनेही बाहिरा क्यों सोवै निह चींत ~ Kabir कबीर

काल चिचाना है खड़ा जाग पियारे मीत नाम सनेही बाहिरा क्यों सोवै निह चींत ~ Kabir कबीर

सब जग सूता नींद भरि, मोहि न आवै निन्द | कल खड़ा है बारनै, (ज्यौ) तोरन आया बिन्द | ~संत कबीर (Kabir)

सब जग सूता नींद भरि, मोहि न आवै निन्द | कल खड़ा है बारनै, (ज्यौ) तोरन आया बिन्द | ~संत कबीर (Kabir)

The split-mind thinks that it can be loving and ambitious at the same time.  Can a calculative, insecure, ambitious, planning mind know love?  ~ Prashant Tripathi

The split-mind thinks that it can be loving and ambitious at the same time. Can a calculative, insecure, ambitious, planning mind know love?

काल हमारे संग है, कस जीवन की आस | दस दिन नाम सँभार ले, जब लगि पिंजर साँस || ~कबीर (Kabir)

काल हमारे संग है, कस जीवन की आस | दस दिन नाम सँभार ले, जब लगि पिंजर साँस || ~कबीर (Kabir)

माली आवत देखि के, कलियाँ करें पुकार | फूली फुली चुनी लई, काल हमारी बार || ~ कबीर (Kabir)

माली आवत देखि के, कलियाँ करें पुकार | फूली फुली चुनी लई, काल हमारी बार || ~ कबीर (Kabir)

जीवन मुक्त सोई मुक्ता हो| जब लगि जीवन मुक्ता नाहीं, तब लगि सुख दुख भुक्ता हो ।। ~कबीर  #जीवन #मुक्ति #द्वैत  Read at:- prashantadvait.com Watch at:- youtube.com/c/ShriPrashant Twitter:- @Prashant_Advait Website:- www.advait.org.in

जीवन मुक्त सोई मुक्ता हो| जब लगि जीवन मुक्ता नाहीं, तब लगि सुख दुख भुक्ता हो ।। ~कबीर #जीवन #मुक्ति #द्वैत Read at:- prashantadvait.com Watch at:- youtube.com/c/ShriPrashant Twitter:- @Prashant_Advait Website:- www.advait.org.in

मन को मिरतक देखि के, मति माने विश्वास| साधु तहाँ लौं भय करे, जो लौं पिंजर साँस| ~ संत कबीर  माया का बड़े से बड़ा छलावा है “मैं नहीं हूँ” ~ श्री प्रशान्त #Kabir #ShriPrashant #Advait #mind #maya #iamnot Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

मन को मिरतक देखि के, मति माने विश्वास| साधु तहाँ लौं भय करे, जो लौं पिंजर साँस| ~ संत कबीर माया का बड़े से बड़ा छलावा है “मैं नहीं हूँ” ~ श्री प्रशान्त #Kabir #ShriPrashant #Advait #mind #maya #iamnot Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

जब आप कबीर को याद करते हैं, तो वह आत्म-स्मरण है | आप कबीर को नहीं याद करते, आप कबीर के माध्यम से अपने आप को याद करते हो | ~ श्री प्रशांत #ShriPrashant #Advait #Kabir #remembrance Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

जब आप कबीर को याद करते हैं, तो वह आत्म-स्मरण है | आप कबीर को नहीं याद करते, आप कबीर के माध्यम से अपने आप को याद करते हो | ~ श्री प्रशांत #ShriPrashant #Advait #Kabir #remembrance Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

जीवन मुक्त सोई मुक्ता हो । जब लगि जीवन मुक्ता नाहीं, तब लगि सुख दुख भुक्ता हो  ~ कबीर #Kabir  #ShriPrashant #Advait #freedom #duality Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

जीवन मुक्त सोई मुक्ता हो । जब लगि जीवन मुक्ता नाहीं, तब लगि सुख दुख भुक्ता हो ~ कबीर #Kabir #ShriPrashant #Advait #freedom #duality Read at:- prashantadvait.com Watch at:- www.youtube.com/c/ShriPrashant Website:- www.advait.org.in Facebook:- www.facebook.com/prashant.advait LinkedIn:- www.linkedin.com/in/prashantadvait Twitter:- https://twitter.com/Prashant_Advait

मूरत से दुनिया फल मांगे, अपने हाथ बनाये। कहें कबीर जहाँ साँच वस्तु है, सहजे दर्शन पाये।। ~कबीर Kabir

मूरत से दुनिया फल मांगे, अपने हाथ बनाये। कहें कबीर जहाँ साँच वस्तु है, सहजे दर्शन पाये।। ~कबीर Kabir

कबीरा सो धन संचिये, जो आगे को होय। सीस चढ़ाया पोटली, ले जात न देख्या कोय || ~कबीर Kabir

कबीरा सो धन संचिये, जो आगे को होय। सीस चढ़ाया पोटली, ले जात न देख्या कोय || ~कबीर Kabir

संतो सो निज देश हमारा। बिना ज्योति उजियारा। ~कबीर Kabir

(by Shri Prashant (श्री प्रशांत))

सुनता है गुरु ज्ञानी, गगन में आवाज हो रही झीनी-झीनी| ~कबीर Kabir

सुनता है गुरु ज्ञानी, गगन में आवाज हो रही झीनी-झीनी| ~कबीर Kabir

काम क्रोध और लोभ जरै।  जरै मान अभिमान।। ~कबीर Kabir

काम क्रोध और लोभ जरै। जरै मान अभिमान।। ~कबीर Kabir

Pinterest
Search