Pinterest • The world’s catalogue of ideas

Shrinathji

श्री नाथजी का यह स्वरूप किशोरावस्था का है। प्रभु श्री कृष्ण मूलतः श्यामवर्ण है। श्रृंगार रस का वर्ण श्याम ही है। प्रभु श्रीनाथजी तो श्रृंगार रस, परम प्रेम रूप है। वही मानों उनके स्वरूप में उमडा पड़ रहा है। अतः आपश्री का श्यामवर्ण होना स्वभाविक है किन्तु श्रीनाथजी के स्वरूप में एक विशेषता यह है कि उनके स्वरूप में भक्तों के प्रति जो अनुराग उमड़ता है इसलिए उनकी श्यामता मे अनुराग की लालिमा भी झलकती है। इसी कारण श्रीनाथजी का स्वरूप लालिमायुक्त श्यामवर्ण का है।
7 Pins20 Followers

Shrinathji, Vallabhacharya, Yamunaji, Pushtimarg, Shriji

7
2

Saved by

Pushtimarg .

Shrinathji, Shriji, Shrinathji Swarup, Nathdwara

4

Saved by

Pushtimarg .

Sudharshan Kavach, Shrinathji, Vallabhacharya, Yamunaji, Pushtimarg, Shriji

3

Saved by

Pushtimarg .

Balkrishnalal, Shrinathji, Vallabhacharya, Yamunaji, Pushtimarg, Shriji

2

Saved by

Pushtimarg .

Saved by

Pushtimarg .