Bhagavad Gita Quotes

Quotes from Yatharth Geeta - Srimad Bhagavad Gita by Swami Adgadanand
47 Pins23 Followers
Srimad Bhagavad Gita -  गीता सार :  1. ईश्वर एक  2. उसका निवास हृदय   3. उसे पाने का अधिकार उन सबको जिन्हें मनुष्य शरीर मिला है।  4. उसे पाने की क्रिया एक-ओम का जप तथा सद्गुरू का ध्यान।  #bhagwad geeta #quote #yatharth geeta #krishna

Srimad Bhagavad Gita - गीता सार : 1. ईश्वर एक 2. उसका निवास हृदय 3. उसे पाने का अधिकार उन सबको जिन्हें मनुष्य शरीर मिला है। 4. उसे पाने की क्रिया एक-ओम का जप तथा सद्गुरू का ध्यान। #bhagwad geeta #quote #yatharth geeta #krishna

pin 4
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - Yog - योग : संसार के संयोग वियोग से रहित अव्यक्त ब्रह्म के मिलन का नाम योग है। ~Quote from Yatharth Geeta.

Srimad Bhagavad Gita - Yog - योग : संसार के संयोग वियोग से रहित अव्यक्त ब्रह्म के मिलन का नाम योग है। ~Quote from Yatharth Geeta.

pin 2
heart 1
Bhagavad Gita Quote - Shri Krishna - श्रीकृष्णोक्त सत्य : श्रीकृष्ण ने उसी तत्व को बताया जिसे तत्वदर्शियों ने पहले देख लिया था और आगे भी देखेंगे। ~ Yatharth Geeta.

Bhagavad Gita Quote - Shri Krishna - श्रीकृष्णोक्त सत्य : श्रीकृष्ण ने उसी तत्व को बताया जिसे तत्वदर्शियों ने पहले देख लिया था और आगे भी देखेंगे। ~ Yatharth Geeta.

pin 2
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - गीता क्या है : योगेश्वर श्रीकृष्ण द्वारा परमात्मा में प्रवेश दिलाने वाले क्रियात्मक नियमों का उपदेश गीता है। यह मानव मात्र के लिये धर्म का अतक्र्य शास्त्र है। - Yatharth Geeta.   #shreemad bhagwad geeta #swami adgadanand  # shri Krishna #spiritual quote #guru

Srimad Bhagavad Gita - गीता क्या है : योगेश्वर श्रीकृष्ण द्वारा परमात्मा में प्रवेश दिलाने वाले क्रियात्मक नियमों का उपदेश गीता है। यह मानव मात्र के लिये धर्म का अतक्र्य शास्त्र है। - Yatharth Geeta. #shreemad bhagwad geeta #swami adgadanand # shri Krishna #spiritual quote #guru

pin 2
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - Yatharth Geeta - गीता की टीकाओं में यथार्थ गीता श्रेष्ठ क्यों ? ‘यथार्थ गीता’ एक क्रियानिष्ट महापुरुष द्वारा भगवान के निर्देशन पर की गई गीता की प्रत्यक्षानुभूत व्याख्या है। कई मूल प्रश्न जैसे कर्म, यज्ञ, वर्ण, वर्ण संकर, युद्ध, शरीर यात्रा, देवता, अवतार इत्यादि का स्पष्टीकरण केवल इसी टीका में देखने को मिलता है। यथार्थ गीता की चार छः आवृत्ति श्रद्धापूर्वक करते ही आप पायेंगे कि वह परमात्मा आपका मार्ग दर्शन करने लगा है।  #shreemad bhagwad #krishna #karma #dharma…

Srimad Bhagavad Gita - Yatharth Geeta - गीता की टीकाओं में यथार्थ गीता श्रेष्ठ क्यों ? ‘यथार्थ गीता’ एक क्रियानिष्ट महापुरुष द्वारा भगवान के निर्देशन पर की गई गीता की प्रत्यक्षानुभूत व्याख्या है। कई मूल प्रश्न जैसे कर्म, यज्ञ, वर्ण, वर्ण संकर, युद्ध, शरीर यात्रा, देवता, अवतार इत्यादि का स्पष्टीकरण केवल इसी टीका में देखने को मिलता है। यथार्थ गीता की चार छः आवृत्ति श्रद्धापूर्वक करते ही आप पायेंगे कि वह परमात्मा आपका मार्ग दर्शन करने लगा है। #shreemad bhagwad #krishna #karma #dharma…

pin 2
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - पूजनीय ‘इष्ट’ देव : एकमात्र परमात्मा ही पूजनीय देव है। उसे खोजने का स्थान हृदय-देश है। उसकी प्राप्ति का स्रोत उसी अव्यक्त स्वरूप में स्थित, प्राप्तिवान, महापुरुष के द्वारा है। ~ Yatharth Geeta Quote.

Srimad Bhagavad Gita - पूजनीय ‘इष्ट’ देव : एकमात्र परमात्मा ही पूजनीय देव है। उसे खोजने का स्थान हृदय-देश है। उसकी प्राप्ति का स्रोत उसी अव्यक्त स्वरूप में स्थित, प्राप्तिवान, महापुरुष के द्वारा है। ~ Yatharth Geeta Quote.

pin 1
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - ज्ञान : परमात्मा की प्रत्यक्ष जानकारी ज्ञान है। ~ Quote from Yatharth Geeta.

Srimad Bhagavad Gita - ज्ञान : परमात्मा की प्रत्यक्ष जानकारी ज्ञान है। ~ Quote from Yatharth Geeta.

pin 1
गीता की देन : यह विशुद्ध अध्यत्मिक शास्त्र है। विश्व में धर्म के नाम पर जो कुछ हैं सबका मूल गीता है। किन्तु परमात्मा को दखने, उसे प्राप्त करने की विधि केवल गीता में सुरक्षित है।  #yatharth geeta #bhagavad gita  #krishna

गीता की देन : यह विशुद्ध अध्यत्मिक शास्त्र है। विश्व में धर्म के नाम पर जो कुछ हैं सबका मूल गीता है। किन्तु परमात्मा को दखने, उसे प्राप्त करने की विधि केवल गीता में सुरक्षित है। #yatharth geeta #bhagavad gita #krishna

pin 1
heart 1
Srimad Bhagavad Gita - गीता के अनुसार मनुष्य का कत्र्तव्य : एक परमात्मा के प्रति अनन्य श्रद्धा, समर्पण।  #yatharth geeta #krishna #quotes #swami adgadanand

Srimad Bhagavad Gita - गीता के अनुसार मनुष्य का कत्र्तव्य : एक परमात्मा के प्रति अनन्य श्रद्धा, समर्पण। #yatharth geeta #krishna #quotes #swami adgadanand

pin 1
heart 2
विश्वगुरु भारत - सृष्टि का आदिशास्त्र- (यथार्थ गीता से) - ‘इमं विवस्वते योगम्’ (गीता, 4/1) भगवान श्रीकृष्ण ने कहा- इस अविनाशी योग को मैंने आरम्भ में सूर्य से कहा। सूर्य ने इसे स्वयंभू आदि मनु से कहा। जिसके अनुसार एक परमात्मा ही सत्य है, परम तत्त्व है; वह कण-कण में व्याप्त है। योग-साधना के द्वारा वह परमात्मा दर्शन, स्पर्श और प्रवेश के लिये सुलभ है। भगवान द्वारा उपदिष्ट वह आदिज्ञान वैदिक ऋषियों से लेकर अद्यावधि अक्षुण्ण रूप से प्रवाहित है।  #bhagavad gita #yatharth geeta # quote #Krishna…

विश्वगुरु भारत - सृष्टि का आदिशास्त्र- (यथार्थ गीता से) - ‘इमं विवस्वते योगम्’ (गीता, 4/1) भगवान श्रीकृष्ण ने कहा- इस अविनाशी योग को मैंने आरम्भ में सूर्य से कहा। सूर्य ने इसे स्वयंभू आदि मनु से कहा। जिसके अनुसार एक परमात्मा ही सत्य है, परम तत्त्व है; वह कण-कण में व्याप्त है। योग-साधना के द्वारा वह परमात्मा दर्शन, स्पर्श और प्रवेश के लिये सुलभ है। भगवान द्वारा उपदिष्ट वह आदिज्ञान वैदिक ऋषियों से लेकर अद्यावधि अक्षुण्ण रूप से प्रवाहित है। #bhagavad gita #yatharth geeta # quote #Krishna…

pin 1
Pinterest • The world’s catalogue of ideas
Search